फिल्म अभिनेता राजपाल यादव का बड़ा आरोप

By: Red Alert Bureau
Apr 27, 2018

फिल्म अभिनेता राजपाल यादव का बड़ा आरोप
करोड़पति बिजनेसमैन और सपा के पूर्व सांसद/पूर्वमंत्री पर यह बड़े आरोप 
शाहजहाॅपुर उद्योगपति पर राजपाल यादव का बड़ा आरोप
शाहजहाॅपुर। राजपाल यादव का फिल्मी स्टैण्ड कोर्ट से सजा पाने के बाद खुली पंचायत लगाने का किया ऐलान। मामला 2010 का है ’अता पता लापता’ फिल्म के निर्माण के लिए शाहजहाॅपुर के करोड़पति बिजनेसमैन, सपा के पूर्व सांसद मंत्री रहे पूर्व परिचितों पर विश्वासघात का आरोप लगाते हुए हास्य फिल्म अभिनेता राजपाल यादव ने कहा कि मेरी फिल्म की कुल लागत 22 करोड़ थी जिसके एक-एक पैसे का हिसाब इंकमटैक्स में जमा है। फिल्म 2011 में रिलीज होनी थी जो किसी कारणवश डिले हो गई और 2012 में रिलीज के लिए तैयार हो पाई। इस बीच माधव अग्रवाल ने मुझे बड़ा प्रेशर किया और कहा कि भाई जो पैसा आपको दिया है वो कई लोगो का है, जिसमें उन्होंने सपा के पूर्व सांसद और अपने परिवार के अन्य लोगो का जिक्र किया और कहा कि कम से कम कुछ लिखा पढ़ी कर लेते है ताकि वो आगे लोगो को जवाब दे सके। मैंने भी उस समय उनकी स्थिति को ध्यान में रखते हुए और फिल्म की रिलीज के प्रेशर की व्यस्तता में उनके कुछ पेपरों पर साइन कर दिये और सिक्योरिटी का चेक भी दिया जोकि हमारी पत्नी ने साइन किया था इसलिए वो भी इन सब लफड़ो में फंस गई। हमें क्या पता था कि जिसे हमने अपने शहर का समझकर विश्वास किया वहीं विश्वासघात करेगा। 2012 में हमें इस आदमी की सच्चाई का पता चला जब उसने कहा कि यह पैसा उसने किसी फायदे के लिए नहीं बल्कि मुझे व मेरे परिवार को बदनाम करने के लिये लगाया है। मैं माननीय न्यायालय से मांग करूंगा कि क्या माधव अग्रवाल अपनी कान्सेन्ट देने के बाद निचली अदालतों में कानसेन्ट डिकरेस को निराधार बताते हुए इसे मानने से इंकार करता है तो यह कोर्ट का कांटेम्प्ट नहीं है। मैं चाहूॅगा कि आप जो लोकतंत्र के चैथे स्तम्भ है कम से कम सच से अवगत रहे और देश की जनता को सच बताये। रही बात न्यायालय के आदेशों की तो हम उसका सम्मान करते है और आने वाले दिनों में आप देखेंगे कि सख् किस तरह सामने आता है। सच की झूठ पर और धर्म की अधर्म पर जीत होनी ही होती है बस मनुष्य को धैर्य और विश्वास के साथ रहना चाहिए और मैं भी वहीं कर रहा हूॅ।
वहीं उधर एमजी अग्रवाल के सूत्रों का कहना है कि न्यायालय सभी बातों का फैसला कर रही है न्यायालय का फै़सला सर आंखों पर।

 

Tags:



Sponsors

Subscribe To News Letter