चारधाम यात्रा 2019ः केदारनाथ धाम की कठिन पैदल चढ़ाई अब नहीं करेगी भक्तों को परेशान

By: Red Alert Bureau
Mar 07, 2019

चारधाम यात्रा 2019ः केदारनाथ धाम की कठिन पैदल चढ़ाई अब नहीं करेगी भक्तों को परेशान


केदारनाथ धाम की कठिन पैदल चढ़ाई अब श्रद्धालु भक्तिमय संगीत की स्वर लहरियां सुनते हुए पार कर सकेंगे। संस्कृति विभाग गौरीकुंड से केदारनाथ तक पूरे पैदल मार्ग पर स्पीकर लगाने जा रहा है। इससे करीब 18 किमी लंबे पैदल मार्ग पर श्रद्धालुओं तक कोई भी दिशा-निर्देश या सूचना पहुंचाना भी आसान हो सकेगा। गौरीकुंड से केदारनाथ का पैदल सफर पार करते हुए श्रद्धालु अब भक्ति संगीत का भी लुत्फ ले सकेंगे। बजट मंजूर होने के बाद संस्कृति विभाग जल्द ही इस योजना पर काम शुरू करेगा। वहीं, आपातकालीन स्थिति में भी इसका लाभ मिलेगा।
केदारनाथ धाम के करीब 18 किमी लंबे पैदल मार्ग पर सैकड़ों श्रद्धालु एक साथ सफर कर रहे होते हैं। मौसम खराब होने या अन्य आपातकालीन स्थिति में श्रद्धालुओं तक सूचना पहुंचाना खासा मुश्किल होता है। ऐसे में साउंड सिस्टम लगने से श्रद्धालुओं तक कोई भी जानकारी तुरंत पहुंचाई जा सकेगी।

 

गंगा आरती को देंगे भव्य रूप
संस्कृति विभाग प्रदेश के छह स्थानों पर होने वाली गंगा आरती को भी भव्य रूप देने की तैयारी कर रहा है। इन छह स्थानों पर गंगा आरती स्थल पर विभाग की ओर से साउंड सिस्टम और एलईडी स्क्रीन लगाई जाएगी। हर की पैड़ी (हरिद्वार) और परमार्थ निकेतन (ऋषिकेश) में एलईडी स्क्रीन व साउंड सिस्टम लगाया जाएगा।
वहीं, यमुनोत्री, केदारनाथ पैदल मार्ग, केदारनाथ धाम और ऋषिकेश के गंगा रिसॉर्ट में केवल साउंड सिस्टम लगेगा। अन्य समय में एलईडी स्क्रीन पर प्रदेश के प्रमुख पर्यटन स्थल, सरकारी योजनाएं, यात्रियों व श्रद्धालुओं के लिए आवश्यक दिशा-निर्देश व सूचनाएं प्रसारित की जाएंगी। हमने प्रस्ताव बनाकर शासन को भेजा है। बजट मंजूर होते ही काम शुरू कर दिया जाएगा। इससे दुनियाभर से पहुंचने वाले श्रद्धालुओं को उत्तराखंड की लोक संस्कृति, पर्यटन स्थलों के संबंध में आसानी से जानकारी मिल सकेगी। साथ ही जरूरत के समय सूचनाएं या आवश्यक दिशा-निर्देश तुरंत पहुंचाए जा सकेंगे।

 




Sponsors

Subscribe To News Letter